चाहते में घर में बनी रहे खुशहाली तो इन बातों का रखें विशेष ध्यान
Sep20

चाहते में घर में बनी रहे खुशहाली तो इन बातों का रखें विशेष ध्यान

लखनऊ: घर में खुशहाली सभी चाहते हैं पर इसके लिए कई बातों का ध्यान रखना जरुरी है। यहां तक की घर का दरवाजा भी वास्तु के अनुसार सही होना चाहिये। अक्सर देखा जाता है कि सुख-समृद्धि के लिए परेशान लोगों को वास्तु के कुछ तरीके अपनाने से लाभ होता है। इसलिए घर बनाते समय इन बातों का ध्यान रखें। बेडरूम में भूलकर भी न रखें यह चीजें नहीं तो… दरवाजा होता है सकारात्मक ऊर्जा का केंद्र बिंदु इसलिए दरवाजा खोलते/बंद करते समय नहीं आनी चाहिए आवाज। यह अशुभ...

Read More
बेडरूम में भूलकर भी न रखें यह चीजें नहीं तो…
Sep20

बेडरूम में भूलकर भी न रखें यह चीजें नहीं तो…

नई दिल्ली: शयनकक्ष आपके घर की वो जगह होती है जहां आप दिन भर की थकान भुलाकर तरोताजा होते हैं। पर कई वस्तुएं रात के समय सिर के पास नहीं होनी चाहिये। वरना नींद में खलल के साथ आपकी रातें भी डरावनी हो जाएंगी। अक्‍सर देखने को मिलता है कि लोग आलस्‍य के चलते अपना पर्स तकिए के नीचे ही रखकर सो जाते हैं। कई बार पर्स नहीं तो पैसे ही लोग अपने तकिए के नीचे दबा देते हैं। वास्‍तु के हिसाब से ऐसा करने से हर वक्‍त रुपये पैसे की चिंता लगी रहती है और रात...

Read More
यहीं पर पहली बार हनुमान जी से हुई थी भगवान राम की भेंट
Sep19

यहीं पर पहली बार हनुमान जी से हुई थी भगवान राम की भेंट

नई दिल्ली: क्या आपको पता है भगवान श्रीराम की हनुमान जी से पहली बार कहाँ भेंट हुई थी? यदि नहीं तो आज हम आपको बताते हैं| श्रीराम चरित मानस के अनुसार, जब लंकापति रावण पंचवटी से माता सीता का हरण कर लंका ले गया था। सीता कहां गईं श्रीराम और लक्ष्मण को पता नहीं था। वह जंगल-जंगल भटकते रहे। लेकिन माता सीता का कुछ भी पता नहीं चल पाया। सीता की खोज करते हुए दोनों भाई किष्किंधा पहुंचे। इस क्षेत्र में ही अंजनी पर्वत पर बजरंगबली के पिता महाराज केसरी...

Read More
चाहते हैं धन धान्य की प्राप्ति तो इस तरह करें भगवान विश्वकर्मा को प्रसन्न
Sep17

चाहते हैं धन धान्य की प्राप्ति तो इस तरह करें भगवान विश्वकर्मा को प्रसन्न

नई दिल्ली: शिल्प और यंत्रों के देवता भगवान विश्वकर्मा की जयंती (17 सितंबर) देश के कई हिस्सों में धूमधाम से मनाई जाती है। इस दिन औद्योगिक क्षेत्रों, फैक्ट्रियों, लोहे, मशीनों तथा औजारों से संबंधित कार्य करने वाले, वाहन शोरूम आदि में विश्वकर्मा की पूजा की जाती है। इस अवसर पर मशीनों और औजारों की साफ-सफाई आदि की जाती है और उन पर रंग किया जाता है। भगवान विश्वकर्मा की जयंती वर्षाऋतु के अंत और शरदऋतु के शुरू में मनाए जाने की परंपरा रही है।...

Read More
भगवान भोलेनाथ की एक बहन भी थी, जानिए कौन थी वो
Sep15

भगवान भोलेनाथ की एक बहन भी थी, जानिए कौन थी वो

नई दिल्ली: भगवान शिव की पत्नी माता पार्वती और बच्चों के बारे में सभी जानते हैं लेकिन क्या आपको ये पता है कि शिवजी की एक बहन भी थीं? यदि नहीं तो आपको बता दें कि भगवान भोलेनाथ कि एक बहन भी थी जिनका नाम था असावरी देवी। हिन्दू धर्म ग्रंथों के अनुसार, कर से विवाह के उपरांत माता पार्वती अपना भरा-पूरा परिवार छोड़ कर कैलाश आ गई। वह स्वयं को बहुत तन्हा महसूस करती। उन्हें माता-पिता का दुलार सखी- सहेलियों का साथ बहुत याद आता। पार्वती जी ने सोचा...

Read More
X