अब लाखों करोड़ के कालेधन को पकड़ने की कवायद
Jan10

अब लाखों करोड़ के कालेधन को पकड़ने की कवायद

नई दिल्ली। नोट बंदी के दौरान कालाधन रखने वालों ने भी अपना पैसा जमा कराया है। सरकार को यह पता तो है लेकिन पकड़ने के लिए जांच की जा रही है। जैसे जैसे जांच आगे बढ़ेगी कालाधन रखने वाले बेनकाब होते जाएंगे। तीन लाख करोड़ से ज्यादा की रकम जांच पड़ताल में सरकार को करीब तीन से चार लाख करोड़ रुपए  की आय में कर चोरी का पता चला है। यह राशि नोटबंदी के बाद 500, 1,000 रुपए के पुराने नोट जमा कराने की 50 दिन की अवधि में जमा कराई गई।  नोटबंदी के बाद 60 लाख...

Read More
बैंकों पर जमा होने से ही पैसा सफेद नहीं हो जाएगा
Jan08

बैंकों पर जमा होने से ही पैसा सफेद नहीं हो जाएगा

नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने फिर साफ किया है कि बैंक में रकम जमा होने से ही सफेद नहीं हो जाती है। इन्होंने कहा कि जहां जरूरत होगी जांच की जाएगी। वित्त मंत्री का ब्लॉग वित्त मंत्री ने फेसबुक पर लिखे ब्लॉग में लिखा है कि सिर्फ बैंक में नोट जमा होने से ब्लैक मनी का रंग नहीं बदल जाता। हां, इससे जमा करने वाले की पहचान हो जाती है और इसे पकड़ा जा सकता है। माना जा रहा है कि नोटबंदी के बाद देश में 500 और 1000 रुपये के रूप में मौजूद...

Read More
बैंकों के उधार कारोबार में ऐतिहासिक गिरावट
Jan06

बैंकों के उधार कारोबार में ऐतिहासिक गिरावट

मुम्बई। नोट बंदी के बाद एक तरफ जहां बैंकों के खाते में बेशुमार पैसा जमा हुआ है, वहीं कर्ज सस्ता होने के बाद भी कर्ज लेने वाले कहीं नजर नहीं आ रहे हैं। ज्यादातर बैंक अपनी कर्ज की दर गिरा चुके हैं, लेकिन बाजार पर कोई असर नहीं पड़ा है। एसबीआई की रिपोर्ट एसबीआई की ‘इकॉनरैप- ऋणवृद्धि पर सट्टेबाजी’ रिपोर्ट में बताया गया है कि कम क्रेडिट ग्रोथ चिंता की बात है। क्योंकि सभी बैंकों की पाक्षिक रिपोर्ट इस तरफ इशारा करती है कि ऋण उठाव...

Read More
कई और बैंकों ने सस्ता किया कर्ज
Jan05

कई और बैंकों ने सस्ता किया कर्ज

नई दिल्ली। एक के बाद एक सरकारी और निजी बैंक अपनी कर्ज की दर घटा रहे हैं। बैंकों को उम्मीद है कि इससे लोन लेने वालों की संख्या बढ़ेगी जिससे उनके पास बढ़ी को कर्ज के रूप में दिया जा सकेगा। कर्ज सस्ता की रेस में एचडीएफसी भी अब शामिल हो गया है। सस्ते होंगे आवास व वाहन ऋण बैंकों के इस कदम से कोष आधारित उधारी दर एमसीएलआर की लागत घटेगी और इससे जुड़े आवास, वाहन व अन्य रिण सस्ते होंगे। देश में निजी क्षेत्र के दूसरे सबसे बड़े बैंक एचडीएफसी बैंक ने...

Read More
X
loading...