नई दिल्ली. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) अपने 5 करोड़ अंशदाताओं के लिए वर्ष 2017-18 में भविष्य निधि (पीएफ) पर ब्याज दर में बिना कोई बदलाव किए 8.65 फीसदी पर ही रख सकता है. ब्याज दर को लेकर 21 फरवरी को एक बैठक होनी है जिसमें ये फैसला किया जाएगा.

खबरों के मुताबिक, ईपीएफओ ने इस माह की शुरुआत में 2886 करोड़ रुपये के एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) बेचे थे ताकि इस वर्ष भी 8.65 फीसदी की ब्याज दर बनी रहे. वर्ष 2015-16 में ईपीएफओ की ब्याज दर 8.8 फीसदी थी जिसे ईपीएफओ ने वर्ष 2016-17 के लिए घटाकर 8.65 फीसदी कर दिया था. इस फैसले से ईपीएफओ को 16 फीसदी की दर से 1054 करोड़ रुपए मिले थे जिससे इस साल ईपीएफओ के लिए अपने कर्मचारियों को 8.65 फीसदी की दर से ब्याज देना भारी नहीं पड़ेगा.

मौजूदा वित्त वर्ष के लिए अनुमानित आय को अभी जारी नहीं किया गया है और इसे बैठक में रखा जाएगा. ईपीएफओ अगस्त 2015 से ईटीएफ में निवेश कर रहा है और अबतक ईटीएफ निवेश का लाभ नहीं उठाया. ईपीएफओ ने अब तक ईटीएफ में 44,000 करोड़ रुपये का निवेश किया है.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!