सर्वदलीय बैठक में बोले पीएम मोदी- विपक्ष के सुझावों पर गंभीरता से विचार करेगी सरकार

सोमवार से शुरू हो रहे संसद के बजट सत्र से पहले सदन का कामकाज सुचारू रूप से चलाने सर्वदलीय बैठक बुलाई गई. बैठक के बाद संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा, ‘सरकार बजट सत्र के दौरान एक बार में तीन तलाक संबंधी विधेयक को पारित कराना सुनिश्चित करने के लिए हर प्रयास करेगी.’ उन्होंने कहा कि हम आमसहमति बनाने के लिए विभिन्न दलों से बातचीत करेंगे. अनंत कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक में राजनीतिक दलों के नेताओं से बजट सत्र की सफलता सुनिश्चित करने की अपील की.

सर्वदलीय बैठक

दो घंटे तक चली बैठक

केंद्र सरकार की तरफ से बुलाई गई बैठक शाम 4 बजे शुरू हुई जो करीब दो घंटे तक चली. इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार, कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खड़गे, सपा नेता मुलायम सिंह, भाकपा नेता डी राजा, टीएमसी के डेरेक ओब्रायन, सुदीप बंदोपाध्याय, द्रमुक की कनीमोई जैसे नेताओं ने हिस्सा लिया.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


तीन तलाक पर बैठक में हुई चर्चा

बजट सत्र के दौरान सरकार जहां राज्यसभा में लंबित एक बार में तीन तलाक संबंधी विधेयक के साथ अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा प्रदान करने संबंधी विधेयक को पारित कराना चाहती है. वहीं विपक्षी दल कानून एवं व्यवस्था की स्थिति, संवैधानिक संस्थाओं पर कथित प्रहार और जीएसटी तथा कारोबारियों की स्थिति, किसानों की समस्या जैसे विषयों पर चर्चा करना चाहती है.

विपक्ष से सहयोग की अपील

कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने कहा कि हम देश के समक्ष उत्पन्न सभी समसामयिक विषयों पर चर्चा करना चाहते हैं. सरकार को सहयोगात्मक रूख अपनना चाहिए और विपक्षी को देश से जुड़े महत्वपूर्ण विषयों को उठाने देना चाहिए. संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि सरकार सभी मुद्दों पर नियमों के तहत चर्चा करने को तैयार है.

उन्होंने कहा कि सत्र के दौरान एक बार में तीन तलाक संबंधी विधेयक, अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा प्रदान करने संबंधी विधेयक को पारित कराने का पूरा प्रयास किया जाएगा. मेघवाल ने कहा कि इसके अलावा सत्र के दौरान राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा होगी, बजट पारित होगा एवं इस विषय पर चर्चा होगी.

नौ फरवरी को बजट सत्र का पहला चरण खत्म होगा। उसके बाद अवकाश के पश्चात पांच मार्च को संसद के बजट सत्र का दूसरा चरण प्रारंभ होगा जो छह अप्रैल तक चलेगा.

बजट सत्र पर सरकार का फोकस

संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार की मानें तो पीएम मोदी ने बैठक में कहा कि आगामी बजट सत्र देश के लिए बेहद अहम है. सरकार विपक्ष के सुझावों पर गंभीरता से विचार करेगी.

राहुल गांधी ने बदली रवायत, हफ्ते में दो दिन बैठेंगे कांग्रेस मुख्यालय में

संसदीय मंत्री की मानें तो उन्हें विश्वास है कि राज्यसभा में तीन तलाक बिल जल्द आपसी सहमति से पास हो जाएगा. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को लेकर राजनीति नहीं होनी चाहिए और विपक्ष को मुस्लिम महिलाओं के हितों को ध्यान में रखकर सरकार का साथ देना चाहिए.

loading...

Author: Akash Trivedi

Share This Post On
X