विश्व रिकार्ड की ओर बढ़ रहा बिहार, 21 जनवरी को बनाएगा 11,292 किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला

पटना: बिहार में शराबबंदी के पक्ष में 21 जनवरी को 11,292 किलोमीटर लंबी बनने वाली मानव श्रृंखला दोपहर 12.15 बजे से 1 बजे तक विश्व की सबसे बड़ी मानव श्रृंखला बनेगी। बिहार के ऊपर तीन सैटेलाइट होंगे, जो मानव श्रृंखला की तस्वीर लेंगे। इसमें दो सेटेलाइट इसरो के होंगे और एक अन्य देश का सेटेलाइट है। इस मानव श्रृंखला में डेढ़ करोड़ लोग शामिल होंगे। यह जानकारी मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने दी।

दोपहर सवा बारह बजे से एक बजे बनेगी मानव श्रृंखला

मुख्य सचिव ने कहा कि मानव श्रृंखला का मुख्य हिस्सा पूरब से पश्चिम और उत्तर से दक्षिण 3007 किलोमीटर लंबाई में बनेगा। इसमें लगभग 56 लाख की भागीदारी होगी। उत्तर बिहार में मानव श्रृंखला का प्रस्तावित रूट 1821 किलोमीटर का होगा जबकि दक्षिण बिहार में मानव श्रृंखला का प्रस्तावित रूट 1186 किलोमीटर होगा। उत्तर बिहार की श्रृंखला दक्षिण बिहार से महात्मा गांधी सेतु, राजेन्द्र सेतु और विक्रमशीला सेतु पर मिलेगी।



हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!




मानव श्रृंखला बनने की अवधि में चिह्नित सड़कों पर प्रशासनिक, एम्बुलेंस और अन्य आपातकालीन सेवाओं को छोड़कर सामान्य वाहनों का परिचालन बन्द रहेगा। जिला स्तर के सभी विभागों के सभी सरकारी और संविदागत कर्मी, सरकारी-गैर सरकारी विद्यालय, उच्च विद्यालय, कॉलेज के शिक्षक, कर्मी, आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका और छात्र-छात्राएं मानव श्रृंखला में शामिल होंगे।

बिहार पर रहेगी तीन सैटेलाइटों की नज़र

बिहार में शराबबंदी को लेकर जागरूकता अभियान के तहत 21 जनवरी को राज्य में 11,292 किलोमीटर लंबी बनने वाली मानव श्रृंखला की तस्वीर के लिए तीन सैटेलाइट का उपयोग किया जाएगा। इस मानव श्रृंखला में करीब दो करोड़ लोगों के शामिल करने की योजना है। इस मानव श्रृंखला का केंद्रबिंदु पटना का ऐतिहासिक गांधी मैदान होगा जहां से यह राज्य की सीमाओं तक अटूट रूप से बढ़ेगी। बिहार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने बुधवार को बताया कि 21 जनवरी को बिहार के ऊपर तीन सैटेलाइट होंगे, जो मानव श्रृंखला की तस्वीर लेंगे।

ड्रोन कैमरे भी रखेंगे नज़र

सिंह ने बताया कि शराबबंदी के समर्थन में 21 जनवरी को बिहार में आयोजित मानव श्रृंखला का बिहार सरकार ने समय निर्धारित कर लिया है। 21 जनवरी को दोपहर 12़15 बजे से एक बजे तक का वक्त इसके लिए निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि इस मानव श्रृंखला की तस्वीर लेने की जिम्मेवारी ड्रोन कैमरों के साथ-साथ सैटेलाइट कैमरों पर भी होगा। मानव श्रृंखला में व्यक्ति एक-दूसरे का हाथ पकड़ कर शराबबंदी अभियान का समर्थन करेंगे।

इस श्रृंखला में कक्षा पांच से कम उम्र के बच्चे शामिल नहीं होंगे। इस मानव श्रृंखला में जिला स्तर के सभी विभागों के सरकारी और संविदाकर्मी हिस्सा लेंगे। इस मानव श्रृंखला में सत्ताधारी महागठबंधन में शामिल जद (यू), कांग्रेस और राजद के अलावा अब भाजपा का भी साथ मिला है।

loading...

Author: Vineet Verma

Share This Post On

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X