वसीम रिजवी को जमीयत उलेमा ए हिन्‍द ने भेजा लीगल नोटिस, मदरसों को लेकर लिखा था लेटर

लखनऊ. यूपी शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के प्रसिडेंट वसीम रिजवी के खिलाफ जमीयत उलेमा ए हिन्‍द ने लीगल नोटिस जारी किया है। ये नोटिस रिजवी द्वारा मदरसों को लिंकर पीएम मोदी और सीएम योगी को लिखे लेटर के लिए जारी किया गया है।  यूपी शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के प्रसिडेंट वसीम रिजवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के चीफ मिनिस्टर योगी आदित्यनाथ को एक खत लिखा था।

लीगल नोटिस

उन्होंने लिखा, आतंकी संगठन अवैध रूप से चल रहे कुछ मदरसों की फंडिंग करते हैं। कितने मदरसों ने डॉक्टर-इंजीनियर दिए। इन्हें खत्म करने की जरूरत है।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


वहीं, ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि अगर रिजवी के पास सबूत है, तो वे इसे होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह को दिखाएं।

 मदरसों को हो रही फंडिंग की जांच की जाए

रिजवी ने लिखा ज्यादातर मदरसे जकात के पैसे से चल रहे हैं, जो भारत, बांग्लादेश और पाकिस्तान जैसे देशों से आ रहे हैं। कुछ आतंकवादी संगठन भी अवैध रूप से चल रहे मदरसों को फंडिंग कर रहे हैं। मुस्लिम इलाकों में ज्यादातर मदरसे सऊदी अरब की फंडिंग चल रहे हैं। इसकी जांच की जानी चाहिए।”

पीएम को लिखे खत पर रिजवी को ओवैसी का जवाब

मदरसों को लेकर पीएम को खत लिखने पर वसीम रिजवी को ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने जवाब दिया था।

भ्रष्टाचार पर इलाहाबाद हाई कोर्ट की सख्त टिप्पणी: दुर्लभ और लुप्तप्राय प्रजाति बन गई है ईमानदारी

ओवैसी ने कहा था, “रिजवी बहुत बड़े जोकर और मौकापरस्त हैं। उन्होंने अपना आत्मा आरएसएस को बेच दी है। मैं रिजवी को चैलेंज करता हूं कि वे एक भी ऐसा मदरसा बता दें, जहां इस तरह की पढ़ाई हो रही है। अगर उनके पास सबूत है तो उसे होम मिनिस्टर को दिखाएं।

loading...

Author: Akash Trivedi

Share This Post On

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X
loading...