रिमांड होम मामले में बड़ा खुलासा: दुष्कर्म के बाद हत्या कर दफना दी गई थी बच्ची

मुजफ्फरपुर के रिमांड होम में वहशी दरिंदों ने दरिंदगी का नंगा नाच किया और मानवता की सारी हदें पार कर रिमांड होम की सात साल की बच्ची तक को नहीं छोड़ा।  इस घटना का खुलासा होने के बाद हैवानियत की एक और घटना का खुलासा हुआ है।

बालिका गृह में यौन हिंसा की शिकार बनाई गई एक लड़की की हत्या कर लीची बगीचे में दफनाए जाने के दावे की सच्चाई का पता पुलिस लगाएगी। इस तरह का दावा कुछ लड़कियों ने सीआरपीसी की धारा-164 के तहत न्यायिक अधिकारी के समक्ष दर्ज बयान में किया था।

पुलिस इस मामले में कोर्ट से आदेश लेकर आगे की कार्रवाई करेगी। कांड की जांच कर रही महिला थानाध्यक्ष ज्योति कुमारी ने बताया कि किशोरी का बयान केस डायरी में अंकित किया जा रहा है। इसके बाद वरीय अधिकारी से निर्देश प्राप्त कर आगे की कार्रवाई पूरी की जायेगी। 


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


पटना में आवासित लड़की ने किया था दावा

 बालिका गृह यौन हिंसा की घटना सामने आने पर कुछ लड़कियां पटना में आवासित की गई थी। इसमें लड़की ने अपने बयान में कहा था कि  यौन उत्पीडऩ का विरोध करने पर एक लावारिस किशोरी की पिटाई की गई। इससे उसकी मौत हो गई। आरोपितों ने साक्ष्य छुपाने के लिए उसकी लाश को लीची बगीचे में दफन कर दिया।  

सच्चाई की तह तक पहुंचेगी पुलिस

 लड़की के इस बयान की हकीकत तक पहुंचने के प्रयास पुलिस शुरू करने जा रही है। इसके लिए कोर्ट से आदेश ली जाएगी। बयान देने वाली किशोरी पटना से यहां लाई जाएगी। उसकी निशानदेही पर पुलिस उक्त स्थल हो चिह्नित कर, मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में वहां खुदाई कराई जाएगी। अगर उसकी बात सच निकली तो आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी। तब आरोपितों के विरुद्ध कानूनी शिकंजा और भी कस सकता है। 

42 में से 29 किशोरियों के साथ दुष्कर्म की पुष्टि

बच्चियों से दुष्कर्म की पुष्टि पटना के पीएमसीएच की मेडिकल रिपोर्ट से हुआ है। जांच में अस्पताल प्रशासन ने 42 लड़कियों में से 29 किशोरियों के साथ दुष्कर्म की पुष्टि की है। अस्पताल प्रशासन ने गुरुवार को मेडिकल रिपोर्ट मुजफ्फरपुर पुलिस को भेज दी है।

बड़ी कार्रवाई की मांग

दुष्कर्म के इस खुलासे के बाद पुलिस और प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। इसके साथ ही रिमांड होम पर बड़े स्तर पर कार्रवाई की मांग की जा रही है। इस मामले में अपनी ही सरकार के खिलाफ बड़ा बयान देते हुए भाजपा नेता नवल किशोर यादव ने कहा कि बिहार में इतनी बड़ी घटना हो गई। राज्य में महिलाओं के साथ एेसा हुआ, प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त है। अपऱाध पर लगाम लगाना जरूरी है।

कई बच्चियों की हालत काफी खराब है

पीएमसीएच में हुई मेडिकल जांच के बाद डॉक्टरों ने बताया कि पीड़ित 29 में कई ऐसी बच्चियां हैं, जिनकी हालत काफी खराब है। इतना ही नहीं दुष्कर्म के पहले भी उनकी मानसिक हालत खराब थी, जिसका फायदा उठाते हुए उनके साथ दुष्कर्म किया गया है। कई बच्चियां बोल नहीं सकतीं।

कहा-नगर डीएसपी ने

‘किशोरियों के बयान में आए सभी आरोपों के सत्यता की जांच की जा रही है। उससे संबंधित तथ्यों व साक्ष्यों का भी संकलन किया जा रहा है। इसकी कार्रवाई शुरू कर दी गयी है। न्यायालय से आदेश मिलने के बाद कई तरह की कार्रवाई होगी ।

– मुकुल कुमार रंजन, नगर डीएसपी  

जानिए क्या है मामला 

मुजफ्फरपुर बालिका गृह में रह रही किशोरियों से यौन शोषण और प्रताड़ना का खुलासा तब हु्आ जब मुंबई की टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस की ‘कोशिश’ टीम की सोशल ऑडिट रिपोर्ट ने दिया। 100 पेज की सोशल ऑडिट रिपोर्ट को टीम ने 26 मई को बिहार सरकार, पटना और जिला प्रशासन को भेजा था। 

मामला प्रकाश में आने के बाद रिमांड होम संचालित कर रही एक एनजीओ पर एफआईआर दर्ज करायी गयी थी। इसके बाद मुजफ्फरपुर पुलिस ने 29 किशोरियों को मेडिकल जांच के लिए पीएमसीएच भेजा था। करीब 20 दिन तक चले इस मेडिकल जांच के बाद अस्पताल प्रशासन ने 29 किशोरियों के साथ दुष्कर्म की पुष्टि की और रिपोर्ट बना कर पुलिस को भेज दी है। अब इस मेडिकल रिपोर्ट को पुलिस कोर्ट में पेश करेगी।

सात साल की बच्ची को बोलने में भी हो रही परेशानी

मेडिकल जांच कर रहे डॉक्टरों ने बताया कि नाबालिग लड़कियों के साथ एक नहीं  बल्कि कई बार दुष्कर्म किये गये हैं। जख्म के निशान देख डॉक्टरों ने इस  बात की पुष्टि की है। डॉक्टरों की मानें, तो सात साल की जिस बच्ची के साथ  दुष्कर्म हुआ है, उसे बोलने में भी तकलीफ हो रही थी, जिसकी वजह से  पुलिस को बयान  लेने में भी तकलीफ हो रही थी।

कहा-पीएमसीएच के उपाधीक ने

दुष्कर्म की रिपोर्ट पुलिस को भेज दी गयी है. कुल 29 लड़कियों के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। इनमें एक सात साल की बच्ची भी है। वहीं जांच में यह भी पता चला कि कुछ लड़कियों की मानसिक हालत ठीक नहीं थी। जांच रिपोर्ट कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत की जायेगी।

loading...

Author: Web_Wing

Share This Post On
X