यूपी में पद्मावत पर संकट के बादल, प्रीमियर रद्द, रिलीज़ बेहद मुश्किल

लखनऊ। संजय लीला भंसाली के निर्देशन में बनी फिल्म ‘पद्मावत’ की रिलीज से पहले हिंसक प्रदर्शन का सिलसिला तेज हो गया है। अहमदाबाद के बाद अब यूपी की राजधानी लखनऊ में भी करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा मचाया है। जहां एक ओर गोमतीनगर स्थित मॉल में करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने तोड़फोड़ की, वहीं दूसरी ओर प्रदर्शनकारी वेव सिनेमा हॉल भी पहुंच गए। विरोध प्रदर्शन और भारी हंगामे को देखते हुए सिनेमा हॉल परिसर के आस-पास सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

पद्मावत की रिलीज

यही नहीं, लखनऊ में प्रदर्शनकारियों के उपद्रव की वजह से फिल्म का प्रीमियर रद्द कर दिया गया है। खबर है कि शहर के करीब दर्जन भर थिअटर्स ने फिल्म के प्रीमियर से अपने हाथ पीछे खींच लिए हैं। बताया जा रहा है कि फिल्म का विरोध कर रहे कुछ प्रदर्शनकारियों ने आत्मदाह की भी कोशिश की।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


लखनऊ के गोमती नगर स्थित आई नॉक्स मॉल में करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने ‘पद्मावत’ की रिलीज के खिलाफ जमकर तोड़फोड़ की। इसके अलावा वेव सिनेमा हॉल के बाहर भी प्रदर्शनकारियों ने जमकर हंगामा मचाया। पद्मावत के खिलाफ हंगामे को देखते हुए मॉल की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

आई नॉक्स में तोड़फोड़ के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने करणी सेना के कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है। लखनऊ के अलावा उत्तर प्रदेश के मथुरा, मेरठ समेत कई अन्य जिलों में भी उपद्रवियों ने जमकर हंगामा किया।

मेरठ में पत्थरबाजी

फिल्म की रिलीज से कुछ घंटे पहले बाइक सवार युवकों ने मेरठ के पीवीएस मॉल पर पथराव और तोड़फोड़ की। इस दौरान फायरिंग की भी खबर है। इसके अलावा मिलांज और शॉप्रिक्स मॉल भी निशाने पर रहे। पुलिस ने बमुश्किल भीड़ को समझा-बुझाकर शांत किया।

दोपहर में करीब एक बजे बाइक पर सवार युवक पीवीएस मॉल पहुंचे। सभी युवकों ने मुंह पर कपड़ा लपेटा हुआ था। युवकों ने पीवीएस की बिल्डिंग पर इसी बीच पथराव कर दिया, जिससे पीवीएस घूमने आए लोगों में हड़कंप मच गया। चंद मिनट में पथराव तोड़फोड़ और फायरिंग करते हुए युवक फरार हो गए। पथराव में बिल्डिंग के शीशे टूट गए। इस दौरान मॉल में बनी चौकी पर पुलिस का अता-पता ही नहीं था।

करणी सेना

प्रीमियर से पहले निशाने पर मॉल

एसपी सिटी मानसिंह चैहान, सीओ और कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंची लेकिन आरोपियों का सुराग हाथ नहीं लगा। घटना के पीछे पद्मावत विरोधी तत्वों का हाथ बताया जा रहा है। पुलिस अब हमलावरों की पहचान के लिए आस-पास के सीसीटीवी कैमरों की छानबीन कर रही है।

मेरठ में ही राजपूत समाज और करणी सेना के समर्थकों ने नंदन सिनेमा पर फिल्म का प्रीमियर नहीं चलाने के लिए हंगामा किया। मोदीपुर में मिलांज मॉल के बाहर प्रदर्शनकारियों ने धरना देते हुए दिल्ली-देहरादून हाइवे जाम कर दिया। दिल्ली रोड पर शॉप्रिक्स मॉल के बाहर भी विरोध प्रदर्शन के साथ ही जाम लगाने की कोशिश की गई।

सिविल लाइंस क्षेत्र के सर्कल ऑफिसर चक्रपाणि त्रिपाठी ने बताया, ‘पीवीएस मॉल में मास्क पहने हुए 8-10 लोगों ने पत्थरबाजी की है। पुलिस नकाबपोश लोगों की तलाश में जुट गई है। हम फिल्म की स्क्रीनिंग के वक्त मॉल के प्रबंधन को सुरक्षा मुहैया कराएंगे।’

मथुरा में रोकी ट्रेन

मथुरा में ‘पद्मावत’ के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों ने भूतेश्वर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन रोक ली।

सहारनपुर में 300 लोगों पर FIR

सहारनुपर में भी बुधवार को फिल्म का विरोध जारी रहा। क्षत्रिय समाज के लोगों ने सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन किया। फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली के पुतले की शवयात्रा निकालते हुए घंटाघर पर पुतला फूंका गया। इस दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच जमकर धक्का-मुक्की हुई। वहीं कलेक्ट्रेट में भी विरोध प्रदर्शन किया गया। क्षत्रिय समाज के युवाओं ने पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के सामने ही चेतावनी दी है कि यदि किसी भी सिनेमाघर में फिल्म का प्रदर्शन किया गया तो सिनेमाघरों को आग लगा दी जाएगी। इस मामले में पुलिस ने करीब 300 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

दीपिका पादुकोण के डांस ‘घूमर’ में बड़ा बदलाव

फैजाबाद में थिअटर मालिक पीछे हटे

फैजाबाद जिले में भी ‘पद्मावत’ के विरोध के चलते गुरुवार को फिल्म के प्रीमियर की हिम्मत पैराडाइज थिअटर के प्रबंधक नहीं जुटा पा रहे हैं। ऐसे में साफ हो गया है कि रिलीज डेट पर जिले के लोग फिल्म नहीं देख पाएंगे।

थिअटर के प्रबंधक शिवपूजन पाठक ने बताया कि उन्हें आंदोलनकारियों ने फिल्म न चलाने की धमकी दी है। साथ ही यह भी कहा है कि यदि ‘पद्मावत’ का प्रदर्शन किया तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहें। पाठक के मुताबिक, पुलिस सुरक्षा का कोई आश्वासन बुधवार तक नहीं मिला है। ऐसे में थिअटर मालिक इस फिल्म को दिखाने का जोखिम नहीं उठाना चाहते हैं।

आजमगढ़ में भंसाली का फूंका पुतला

आजमगढ़ जिले के कलेक्ट्रेट क्षेत्र में करणी सेना के सदस्यों ने ‘पद्मावत’ फिल्म पर रोक की मांग को लेकर फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली का पुतला फूंक कर विरोध जताया। करणी सेना के कार्यकर्ता देवेश सिंह ने कहा कि बॉलिवुड के कलाकार देश के इतिहास के साथ छेड़छाड़ कर रहे हैं, जो निंदनीय है। उन्होंने सरकार, सेंसर बोर्ड और सुप्रीम कोर्ट के वकीलों से फिल्म को पूरे देश में बैन करने की मांग की है।

ये भी देखें

loading...

Author: Vatsaly

Share This Post On
X