मौन सुंदर है

मौन सुंदर है,इसे शब्द न दो।
शब्द बाँध देते हैं ,
अर्थ सीमित कर देते हैं।
मौन उन्मुक्त होता है,
अर्थ के लिए स्वतंत्र होता है।
इसलिए मौन को शब्द न दो,
उसे सुन्दर ही रहने दो।
जब मन से मन तक जायेगा,
सुन्दर वह और हो जायेगा!
शब्दों के अर्थ अलग-अलग लगाये जाते हैं,
कुछ सही, कुछ गलत बताये जाते हैं।
मौन स्वयं-स्वतःनिःशब्द शब्द बन जायेगा,
इसे कोई कलुषित न कर पायेगा।
मौन सुन्दर है।
मौन सुन्दर है।।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


पायल सिंह केन्द्रीय विद्यालय, बस्ती में अर्थशास्त्र की शिक्षिका हैं.

loading...

Author: Ashutosh Mishra

Share This Post On

10 Comments

  1. सुंदर

    Post a Reply
  2. मौन की सुंदर व्याख्या। भावाभिव्यक्ति के लिए सदैव शब्दों की आवश्यकता नहीं होती। कभी-कभी मौन अपनी निशब्दता में अनेक अर्थ ध्वनित करता है।

    Post a Reply
    • Dhanyawad ma’am.

      Post a Reply
  3. Ati sunder….

    satyawachan.
    kabhi kabhi jo kaam shabd nahi kar paate wo maun kar jata hai.

    Post a Reply
    • Bilkul sahi.Bahut bahut dhanyawad.

      Post a Reply
  4. मौन की बहुत ही सुन्दर व्याख़्या

    Post a Reply
    • Hardik dhanyawad ma’am.

      Post a Reply
  5. मौनं सर्वार्थसाधनम् । ( मौन सारे काम बना देता है ) — पंचतन्त्र Very nice lines mam to show the importance of silence…

    Post a Reply
    • बहुत बहुत धन्यवाद।

      Post a Reply
  6. Well expressed

    Post a Reply

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X