मेल फर्टिलिटी से जुड़ी प्रॉब्लम बनती जा रही बड़ी समस्या, जाने क्या है इलाज

मेल फर्टिलिटी की प्रॉब्लम आजकल की लाइफस्टाइल और खानपान के कारण बढ़ती जा रही है। इंटरनेशनल फर्टिलिटी सेंटर, नई दिल्ली की फाउंडर और चेयरपर्सन डॉ. रीता बक्शी का कहना है कि आजकल के युवा पुरुषों में स्पर्म काउंट की कमी और खराब क्वालिटी की प्रॉब्लम बहुत आम है। शादी के बाद जब पिता बनने में दिक्कत होती है तो ऐसे कपल्स उनके पास आते हैं जिनमें से अधिकांश की प्रॉब्लम लाइफस्टाइल मॉडिफिकेशन और हेल्दी डाइट के जरिए ठीक हो जाती है।

आयरन लेडी की जन्मशताब्दी पर बोले पूर्व पेट्रोलियम मंत्री, इंदिरा की बराबरी कभी नहीं कर पाएंगे मोदी

क्या होती है मेल फर्टिलिटी?

जब कोई पुरुष गुड स्पर्म काउंट और क्वालिटी के कारण अपनी फीमेल पार्टनर को प्रेग्नेंट कर पाने में समर्थ होता है तो उसे मेल फर्टिलिटी कहा जाता है।



हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!




कई बार इरेक्टाइल डिस्फंक्शन, लिबिडो, स्पर्म काउंट में कमी , खराब स्पर्म मॉटिलिटी, टेस्टोस्टेरॉन लेवल में कमी जैसे चीजों के कारण मेल फर्टिलिटी प्रभावित होती है।

क्या है इरेक्टाइल डिस्फंक्शन (Erectile Dysfunction)?

कई बार ज्यादा देर तक इरेक्शन नहीं हो पाने की प्रॉब्लम को भी इरेक्टाइल डिस्फंक्शन से जोड़ा जाता है।

क्या होता है स्पर्म काउंट (Sperm Count)?

किसी व्यक्ति के सीमैन में 15 से 100 मिलियन प्रति मिलीलीटर तक स्पर्म की संख्या हो सकती है।

जितने ज्यादा स्पर्म होंगे फर्टिलिटी उतनी बेहतर होगी।

क्या होता है टेस्टोस्टेरॉन (Testosterone)?

यह पुरुषों में उत्तेजना बढ़ाने वाला हॉर्मोन होता है।

इसका लेवल कम होने से मेल फर्टिलिटी प्रभावित होती है।

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की प्रॉब्लम भी हो सकती है।

रिव्यू मास्टर केआरके ने किया कंगना की इज्ज़त का फालूदा, आपने देखा क्या…

क्या होता है लिबिडो (Libido)?

यह किसी व्यक्ति की सेक्स के प्रति इच्छा को कहा जाता है।

जिन फूड और सप्लीमेंट्स को खाने से यह बढ़ता है उन्हें एफ्रोडिसिएक्स कहा जाता है।

loading...

Author: Saurabh Srivastava

Share This Post On

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X