भारत ने 30 साल बाद लिया आस्ट्रेलिया से 1 रन की हार का बदला

क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है. उस जीत की टीस किसी भी टीम को सालों साल रहती है, जिस मुकाबले को वह एक या दो रन से हार जाती है. 30 साल पहले चेपक में भी भारत को आस्ट्रेलिया से 1 रन से हार का सामना करना पड़ा था. रविवार को भारत आस्ट्रेलिया के बीच हुए मुकाबले में भारत ने आस्ट्रेलिया को 26 रनों से मात दे दी. इस जीत से कपिल देव को इस बात की बेहद ख़ुशी हुयी होगी कि हमने न सही लेकिन आज की टीम ने बदला तो चुका लिया.

विराट और धोनी की हाइट पर सवाल, आखिर किस को डेट करेंगी ये 3 क्रिकेट स्टार्स

1 रन से हार का बदला

1 रन से हार का


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


दरअसल भारत और आस्ट्रेलिया के बीच रविवार को चेन्नई के चेपक स्टेडियम में खेला गया ये दूसरा मुकाबला था. इससे पहले 9 अक्टूबर 1987 को भारत और आस्ट्रेलिया के बीच यहाँ मुकाबला खेला गया था. तब चेपक स्टेडियम में खेला गया वह पहला मुकाबला था. उस समय भारत की कमान कपिल देव के हाथों में थी. भारत की टीम को एलेन बॉर्डर के लड़ाकों ने 271 रनों का लक्ष्य दिया था. लेकिन भारतीय टीम 269 रन ही बना सकी थी और 1 रन से मुकाबला हार गयी थी.

1987 वर्ल्ड कप का वह तीसरा मैच था. श्रीकांत की 70 और सिद्धू की 73 रनों की पारी भी भारत को जीत दिलाने में नाकाफी रही थी और मनिंदर सिंह के 50वें ओवर की पांचवीं गेंद पर आउट होते ही भारत ये मुकाबला 1 रन से हार गया था.

क्रिकेटर ने दस साल में 150 से ज्यादा बार किया रेप

दोनों टीमों के वर्तमान कप्तान कोहली और स्टीव स्मिथ ने तब दुनिया में कदम भी नहीं रखा था. रोहित और वार्नर तब दुधमुंहे बच्चे थे. 17 सितम्बर को खेले गये इस मुकाबले में धोनी का धमाका और पांड्या के तूफ़ान में आस्ट्रेलिया बह गया.

loading...

Author: Ashutosh Mishra

Share This Post On

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X