ब्यावर दुखांतिका में मरने वालों की संख्या हुई 19, पांच को जयपुर किया रैफर

ब्यावर दुखांतिका में मरने वालों की संख्या 19 पहुंच गई है। आज शाम तक यहां मलबे के ढेर से 10 और लाशें मिली। जानकारी के अनुसार, इस हादसे के बाद लापता लोगों की सूची के हिसाब से मलबे के ढेर से सभी लाशों को निकाला जा चुका है। फिर भी एहतियात के तौर पर रेसक्यू आॅपरेशन पूरी तरह मलबा हटने तक जारी रखा जाएगा।   राजस्थान के अजमेर जिले के ब्यावर में 16 फरवरी की शाम एक विवाह समारोह में मेहमानों के लिए खाना पकाने के दौरान सिलेंडर फट गए थे। इसके बाद यहां भवन ढह गया और मलबे में लोग दब गए। कल शाम तक यहां से न लाशें मिल चुकी थी।

ब्यावर दुखांतिका में मरने वालों की संख्या हुई 19, पांच को जयपुर किया रैफर आज सुबह फिर यहां मलबे में तलाशी अभियान शुरू हुआ। शाम तक 10 और लाशें मिली। इस तरह अब तक कुल 19 लाशें यहां मिल चुकी है। इनमें दूल्हे की मां आचुकी देवी की लाश भी शामिल है।एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के जवान युद्धस्तर पर राहत एवं बचाव कार्य में लगे हुए हैं। गंभीर रूप से कुछ घायलों को अजमेर से जयपुर रैफर किया गया है। सेना के जवान भी इस रेस्कयू आॅपरेशन से जुड़ गए है।

जानकारी के अनुसार ब्यावर के नंदनगर में कुमावत समाज के भवन में शादी से पहले यहां वर हेमंत पटलेचा के मायरे की रस्म का कार्यक्रम हो रहा था। इस दौरान खाने की भी तैयारी चल रही थी। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि खाने की तैयारी कर रहा एक हलवाई रिफिलिंग के जरिए एक सिलेंडर की गैस दूसरे में डाल रहा था।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


हलवाई का गैस बचाने का ये लालच सभी पर भारी पड़ गया। इसी दौरान सिलेंडर ने आग पकड़ ली और ब्लास्ट हो गया जिससे पूरा का पूरा भवन ही धराशायी हो गया। इस भयावह हादसे में 19 लोग अकाल मौत मारे गए जिनमें 3 मासूम भी शामिल हैं। हादसे में पीपाड़ के रहने वाले विश्वास नामक एक शख्स के दो पुत्र 1 वर्षीय लक्षत और दो वर्षीय कर्तव्य की मौत हो गई जबकि पाली निवासी दो वर्षीय बालिका खुशी देवड़ा की भी इस हादसे में जान गई है। अन्य मृतकों में निर्माला देवी,मोनिका छीपा,अभिषेक,हेमलता देवड़ा,बसंतराज और हितेश शामिल हैं।
हलवाई के खिलाफ नामजद मामला दर्ज

इस मामले में हलवाई गजेंद्र सिंह के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। प्रथमदृष्टया पूरे घटनाक्रम में हलवाई की लापरवाही सामने आई है। हादसे के बाद अजमेर के जिला कलेक्टर गौरव गोयल ने रसद विभाग को निर्देश दिए हैं कि जो भी अवैध रूप से सिलेंडरों में गैस ट्रांसफर कर रहे हैं उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। खासतौर पर शादी ब्याह और वाहनों में भी यदि ऐसा हो रहा हो तो उसे तुरंत रुकवाया जाए।

loading...

Author: admin

Share This Post On
X