बीआरडी में मौत का सिलसिला जारी, 48 घंटे में 30 मासूमों ने खोयी जिन्दगी

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज में मासूमों की मौत का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा है. एक नवंबर से तीन नंवबर के बीच 48 घंटे में इस अस्पताल में 30 मासूमों की मौत हो गई है. हालां‍कि मेडिकल कालेज प्रशासन की मानें तो इंसे‍फेलाइटिस से होने वाली मौतों के आंकड़े में कमी आई है.

बीआरडी

रोज बॉयफ्रेंड से मिलने होटल जाती थी, एक दिन हुआ कुछ ऐसा कि लौट नहीं पाई लड़की


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


गोरखपुर का बीआरडी मेडिकल कालेज उस समय  सुर्खियों में आया जब 10-11 अगस्‍त की रात कुछ देर के लिए ऑक्‍सीजन बाधित होने के कारण 36 बच्‍चों की मौत हो गई थी.

इस मामले ने काफी तूल पकड़ा और बीआरडी मेडिकल कालेज के तत्‍कालीन प्राचार्य डा. राजीव मिश्र, उनकी पत्‍नी डा. पूर्णिमा शुक्‍ला, डा. कफील खान सहित कुल 9 लोगों को जेल जाना पड़ा. इसके बावजूद बीआरडी मेडिकल कालेज में हर रोज मासूमों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है.

14 राज्यों में इंसेफलाइटिस का प्रकोप

इंसेफलाइटिस का प्रकोप पूर्वी उत्तर प्रदेश के 12 जिलों में है. उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, असम और बिहार समेत 14 राज्यों में इंसेफलाइटिस का प्रभाव है.  पश्चिम बंगाल, असम, बिहार तथा उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में इस बीमारी का प्रकोप सर्वाधिक है. उत्तर प्रदेश के गोरखपुर, महराजगंज, कुशीनगर, बस्ती, सिद्धार्थनगर, संत कबीरनगर और देवरिया समेत 12 जिले इससे प्रभावित हैं.

loading...

Author: Akash Trivedi

Share This Post On
X