नाभा जेल ब्रेक करने वाले का पंजाब पुलिस ने किया एन्काउंटर, कैप्टन ने थपथपाई पीठ

सवा साल पहले नाभा जेल ब्रेक कर भागे गैंगस्टर विक्की गौंडर, उसके साथी प्रेमा लाहौरिया और सुखप्रीत बुड्ढा का राजस्थान के हिंदूमल कोट के गांव पक्का टिब्बी की टाहनी में राजपुरा पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया. गौंडर और प्रेमा की कई गोलियां लगने से मौके पर ही मौत हो गई. बुड्ढा को गंभीर हालात में अबोहर अस्पताल ले जाया गया, मगर उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया.

नाभा जेल ब्रेक

एनकाउंटर के दौरान हुई गोलीबारी में दो पुलिस कर्मी भी घायल हुए, जिन्हें हालत गंभीर होने के चलते अबोहर अस्पताल से रात को रेफर कर दिया गया. एनकाउंटर राजपुरा सीआईए इंचार्ज इंस्पेक्टर विक्रम बराड़ की टीम ने किया. घटना शुक्रवार शाम 5 बजे की है, राजपुरा पुलिस पार्टी राजस्थान पुलिस को बिना सूचना दिए गांव पक्की टिब्बी पहुंची और इकबाल सिंह की टाहनी को घेर लिया.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


नाभा जेल ब्रेक

पुलिस की हलचल का शक होने पर टाहनी में छिपे गौंडर और प्रेमा ने पुलिस पर फायरिंग कर दी. जवाबी फायरिंग में कई राउंड फायर हुए. इसमें गौंडर और प्रेमा गोली लगने से घायल हुए और ज्यादा खून बहने से उन्होंने दम तोड़ दिया. मौके से पुलिस ने भारी मात्रा में हथियार और गोली बरामद की हैं.

नाभा जेल ब्रेक

सभी फोटो साभार: दैनिक भास्कर

पंजाब पुलिस ने गंगानगर एसपी हरेंद्र महावत को सूचना दी. एसपी सुरेंद्र सिंह, एसएचओ कोतवाली गंगानगर नरेंद्र सिंह, फाजिल्का और अबोहर पुलिस मौके पर पहुंची. रात भर पुलिस भारी धुंध में घटनास्थल की घेराबंदी कर रखी रही. उधर, अबोहर अस्पताल में गैंगस्टरों के शवों का पोस्टमार्टम करने के लिए तीन डाक्टरों के बोर्ड का गठन कर दिया गया है. पोस्टमार्टम शनिवार को होगा.

नाभा जेल ब्रेक

केंद्रीय मंत्री विजय सांपला ने कहा, ‘डीजीपी पंजाब और पंजाब पुलिस ने टारगेट किलिंग केस के बाद मोस्ट वांटेड गैंगेस्टर विक्की गोडर को मारकर सराहनीय काम किया है.’

नाभा जेल ब्रेक

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एनकाउंटर टीम को शाबासी देते हुए कहा, डीजीपी सुरेश अरोड़ा, डीजी इंटेलीजेंस दिनकर गुप्ता, ओसीसीयू टीम, एआईजी गुरमीत सिंह और इंस्पेक्टर व्रिक्रम बराड़ का सराहनीय काम. आप सभी पर हमें मान है.

नाभा जेल ब्रेक

ये भी देखें:

loading...

Author: Ashutosh Mishra

Share This Post On
X