तेजस्वी का नीतीश पर आरोप, कहा- मीडिया पर बनाया जा रहा है दबाव

आरजेडी नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव 10 फरवरी से संविधान बचाओ न्याय यात्रा पर निकले हुए हैं. अब तक तेजस्वी ने कटिहार, पूर्णिया और किशनगंज में न्याय यात्रा के तहत जनसभाएं की है. हालांकि, तेजस्वी कि नाराजगी इस बात को लेकर है कि उनकी न्याय यात्रा में जो भारी जनसमर्थन उन्हें मिल रहा है, इसकी खबरें मीडिया में सही प्रकार से नहीं दिखाई जा रही हैं.

सरकार के पदाधिकारी मीडिया को धमका रहे हैं


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


नागाजगी के चलते तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला है और कहा है कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ मीडिया को बिहार सरकार के पदाधिकारी धमका रहे हैं. उनसे कहा जा रहा है कि वह तेजस्वी की न्याय यात्रा की कवरेज न करें. तेजस्वी ने कहा कि बिहार सरकार के पदाधिकारी मीडिया चैनलों और अखबारों धमका रहे हैं कि अगर उन्होंने तेजस्वी यादव की न्याय यात्रा के कार्यक्रम को कवरेज किया तो उन्हें विज्ञापन नहीं मिलेगा.

नीतीश पर हमला

नीतीश पर हमला करते हुए तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार इतने असहाय, बेबस और लाचार हो गए हैं कि 28 साल के नौजवान को रोकने के लिए अब मीडिया को डरा धमका रहे हैं. तेजस्वी ने कहा कि बिहार सरकार की ऐसी हरकतों पर धिक्कार है.

 

तेजस्वी के आरोपों का जवाब देते हुए जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने एक फोटो को ट्वीट कर पलटवार किया. उन्होंने लिखा कि हक़मार जी, लोकतंत्र के चौथे स्तंभ मीडिया पर हमले की ये तस्वीरें याद हैं ना? आपके इशारे पर आप ही के सुरक्षाकर्मियों ने मीडिया की तब पिटाई की थी जब आपसे बेनामी संपत्ति मामले में सवाल पूछा जा रहा था. डिप्टी सीएम रहते एक 28 साल का नौजवान सत्ता के गुरूर में था. धिक्कार है.

हक़मार जी, लोकतंत्र के चौथे स्तंभ मीडिया पर हमले की ये तस्वीरें याद हैं ना? आपके इशारे पर आप ही के सुरक्षाकर्मियों ने मीडिया की तब पिटाई की थी जब आपसे बेनामी संपत्ति मामले में सवाल पूछा जा रहा था।डिप्टी सीएम रहते एक 28 साल का नौजवान सत्ता के गुरुर में था।धिक्कार है

मोहन भागवत पर भी हमला
वहीं दूसरी तरफ, RSS प्रमुख मोहन भागवत के द्वारा संघियों की तुलना भारतीय सेना से करने को लेकर तेजस्वी ने मोहन भागवत को चुनौती देते हुए कहा कि अगर उनमें हिम्मत हो तो अपने संगठन के लोगों को उन्हें डोकलाम भेजना चाहिए जहां से चीन लगातार नियंत्रण रेखा पार करने की कोशिश कर रहा है.

सैनिकों का अपमान बंद करें

तेजस्वी ने कहा कि चीनी सेना भारतीय सीमा में घुसी हुई है और पाकिस्तान रोजाना भारत पर हमले कर रहा है. इन से लड़ रहे भारतीय सेना और सैनिकों का मोहन भागवत को अपमान बंद करना चाहिए.

RSS पर तंज कसते हुए तेजस्वी ने कहा कि मोहन भागवत को अपने निक्कर गैंग को डोकलाम या फिर भारत-पाकिस्तान सीमा पर भेज देना चाहिए.

loading...

Author: Gargi Tripathi

Share This Post On
X