जापान करने जा रहा है कर्मचारियों के वार्षिक वेतन वृद्धि की घोषणा, लेकिन…

टोक्यो। जापान की बड़ी कंपनियां बुधवार को कर्मचारियों के लिए वार्षिक मजदूरी में बढ़ोत्तरी की घोषणा करने जा रही है। इसके साथ ही कर्मचारियों के लिए एक गुड न्यूज है जबकि कुछ बैड न्यूज भी है। नई घोषणा के साथ कर्मचारी पिछले सालों से 2 फीसदी ज्यादा मजदूरी पायेंगे। लेकिन इसके साथ ही बैड न्यूज ये है कि प्रधानमंत्री शिंजो एबी के 3 फीसदी लक्ष्य को पूरा करने में ये पीछे रह जायेंगे।

विशेषज्ञों का कहना है कि बोनस और अन्य दूसरे लाभों के लिए निवेश पर कंपनियों का फोकस होगा। खपत को बढ़ावा देने के लिए पीएम शिंजो अबे 3 प्रतिशत लाभ के लिए अभियान चला रहे हैं। लगभग दो दशकों से जापान की अर्थव्यवस्था का पतन करने वाले अपस्फीति को हटा दिया गया है। बैंक ऑफ जापान के गवर्नर हारुहिको कुरोदा ने भी मुद्रास्फीति को 2 प्रतिशत लक्ष्य तक पहुंचने के लिए वेतन में 3 प्रतिशत वृद्धि का आग्रह किया है।

भले ही कई जापानी कंपनियां नकदी के ढेर पर बैठे हों, वे बेसिक सैलरी बढ़ाने को लेकर चिंतित हैं क्योंकि इससे उन्हें निश्चित कर्मियों की लागत में कटौती करनी होती है। जापान के कैपिटल इकोनॉमिक्स के वरिष्ठ अर्थशास्त्री मार्सेल थिलीयैंट ने कहा, “बड़ी तस्वीर यह है कि श्रम उत्पादकता की तुलना में उस तेजी से वेतन नहीं बढ़ रही है, इसलिए वे प्रमुख लागत दबावों का निर्माण नहीं कर रहे हैं।”पिछले चार वर्षों में, प्रमुख कंपनियां हर साल 2 प्रतिशत वेतन को बढ़ाने पर सहमत हुईं हैं।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


रिपोर्ट के मुताबिक हालांकि, एक जोखिम यह है कि आने वाले वर्ष में ओवरटाइम वेतन में कटौती से मजदूरी का लाभ कम हो सकता है क्योंकि कंपनियां सरकार के दबाव में होती हैं। विश्लेषकों का कहना है कि तेजी से बढ़ने वाली आबादी की सेवा के लिए सामाजिक सुरक्षा के कटौती मजदूरी लाभ में कटौती है। जापान के यूनियन पश्चिम में अपनी मांगों को मनवाने की तुलना में कम आक्रामक होते हैं क्योंकि वे नौकरी की सुरक्षा को अधिक महत्व देते हैं और कॉर्पोरेट निष्ठा की भावना को बनाए रखते हैं। 

 

loading...

Author: Web_Wing

Share This Post On
X