चारा घोटाले में लालू की हैट्रिक, तीसरे मामले में मिली पांच साल की सश्रम सजा

रांची की सीबीआई कोर्ट में हुई चारा घोटाला मामले के तीसरे केस में आज राजद सुप्रीमो लालू यादव एक बार फिर दोषी करार दिए गए। लालू को पांच साल की सश्रम सजा के साथ ही दस लाख का जुर्माना भी लगाया गया है।

चारा घोटाले में लालू की हैट्रिक, तीसरे केस में भी दोषी करार

लालू को पांच साल की सश्रम सजा


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


जब लालू को इस केस में दोषी करार दिया गया तो राजद ने इसे साजिश करार दिया और उसके बाद बिहार की राजनीति में एक बार फिर बवाल मच गया है, जमकर आरोप-प्रत्यारोप चल रहे हैं। जहां एक ओर राजद का कहना है कि वो इसके खिलाफ अब उपरि अदालत में जाएंगे तो वहीं भाजपा और जदयू ने इसपर जमकर तंज कसा है।

सीएम नीतीश और भाजपा पर राजद ने लगाया आरोप

तेजस्वी यादव, रघुवंश प्रसाद सिंह और शक्ति सिंह यादव ने एक ओर जहां भाजपा और जदयू पर आरोप लगाया है और कहा है कि सबने मिलकर लालू को फंसाया है। इन सबका कहना है कि एनडीए चाहती है कि हर हाल में लोकसभा चुनाव के साथ ही बिहार विधानसभा का भी चुनाव हो जाए तब तक लालू को तमाम तरह के आरोप लगाकर जेल में बंद रखो।

जदयू नेता केसी त्यागी ने कहा कि तेजस्वी यादव ने कहा है कि ये जदयू और भाजपा की साजिश है तो एेसा कहकर वो अपनी नादानी जाहिर कर रहे हैं और कुछ नहीं। एेसा कहने पर उनका संकट और बढ़ ही सकता है। क्या न्यायालय जदयू या भाजपा के कार्यालय से चलती है। जिसने भी सरकारी खजाने का दुरुपयोग किया और उसका खुलासा हुआ तभी तो सजा मिल रही है।

लालू की सजा के मामले में भाजपा नेता औऱ बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने तंज कसते हुए कहा कि ये तो कोई नई बात या आश्चर्यजनक नहीं, ये तो होना ही था। राजद के लोग जो विलाप कर रहे हैं और आरोप लगा रहे हैं कि यह भाजपा और नीतीश कुमार की साजिश है तो उन्हें सोचना चाहिए कि चारा घोटाला करने के लिए किसने कहा था?

इसपर जदयू नेता संजय सिंह ने कहा कि लालू ने भ्रष्टाचार की जो गंगोत्री बहायी थी उन्हें यहीं इसकी सजा मिल रही है। अभी तो तीन ही मामले में सजा मिली है, अभी तो अन्य मामले बाकी ही हैं। दूसरे पर आरोप लगाना राजद का काम है।

वहीं जदयू नेता नीरज कुमार ने कहा कि इतने भ्रष्टाचार करने के बाद भी उनके पुत्र को लालू हीरो नजर आते हैं। हां, लालू भ्रष्टाचार के हीरो जरूर हैं। तेजस्वी को तो अपने ऊपर लगे काले दाग को मिटाने की कोशिश करनी चाहिए। वो तो अपनी संपत्ति जनता को बता दें। बार-बार ये कहते हैं कि जनता के नेता हैं। जनता को धोखा देकर एेसा कहने में उन्हें खराब भी नहीं लगता।

इसपर भाजपा नेता गिरिराज सिंह ने कहा कि लालू जब राजनीति में आए तो उन्होंने कहा था कि अपनी ताकत को गरीबों के उत्थान में झोंक देंगे, लेकिन लालू ने अपनी ताकत गरीबों के उत्थान में नहीं अपने परिवार के उत्थान में झोंक दिया।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कहा कि चारा घोटाला हज़ार करोड़ से भी ज्यादा राशि के गबन का मामला है जो गरीब जनता और खासकर पिछड़े पशुपालकों की गाढ़ी कमाई के पैसे हड़पने से जुड़ा है । ये बात जरुर है की लालू प्रसाद के शासन में भ्रष्टाचार और चारा घोटाले जैसे आर्थिक घोटालों के खिलाफ भाजपा ने बिहार व देश की जनता के बीच आन्दोलन कर मामले को उजागर करने व जनजागृति फैलाने का काम किया था । भारतीय जनता पार्टी बिहार के भ्रष्टाचार रहित विकास के प्रति दृढ़संकल्पित है और हमेशा रहेगी।

जदयू के नेता अजय आलोग ने कहा कि हम न्यायालय के फैसले का सम्मान करते हैं और उसपर राजनीति नहीं करते। जो जैसा करता है वैसा ही पाता है।

ये भी देखें:

loading...

Author: Ashutosh Mishra

Share This Post On

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X