चारा घोटाले पर बोले लालू के लाल- भाजपा, आरएसएस और नीतीश ने फंसाया

पटना। चारा घोटाले के तीसरे मामले में लालू प्रसाद को पांच साल की सजा को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भाजपा और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का षड्यंत्र करार दिया है। जननायक कर्पूरी ठाकुर की जयंती पर राजद कार्यालय में बुधवार को आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए तेजस्वी ने अपने पिता का बचाव किया और कहा कि सबको पता है कि लालूजी के खिलाफ साजिश हुई है। अदालत के फैसले पर तेजस्वी ने कहा कि यह अंतिम नहीं है। वह इस लड़ाई को हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट तक ले जाएंगे।

चारा घोटाले

तेजस्वी ने कहा कि एक-एक आदमी जानता है कि हमारे परिवार को भाजपा, आरएसएस और नीतीश ने फंसाया है। लोग विकास के बजाय लालू की आवाज दबाने में लगे हैं। जनता लालूजी को हीरो मानती है। तेजस्वी ने अदालत के फैसले के बाद जनता की अदालत में जाने की भी बात की। विकास यात्रा को निशाने पर लेते हुए उसे संसाधनों का दुरुपयोग बताया है। तेजस्वी का पुराना दर्द भी झलका। कहा कि दोबारा मौका मिला तो नीतीश से कभी समझौता नहीं करेंगे।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


दहेज प्रथा एवं बाल विवाह के खिलाफ मानव श्रृंखला पर कटाक्ष करते हुए कहा कि दोनों कुरीतियों के खिलाफ पहले से कानून बने हुए हैं। फिर शृंखला का क्या मतलब? तेजस्वी ने नीतीश को बेरोजगारी के खिलाफ श्रृंखला बनाने की सलाह दी। कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न सम्मान देने की मांग करते हुए तेजस्वी ने कहा कि अब केंद्र और राज्य दोनों में राजग की सरकारें हैं। कर्पूरी को भारत रत्न दिलाएं, नहीं तो राजद मानव श्रृंखला बनाएगा।

नेता प्रतिपक्ष ने पिछड़ों, अति पिछड़ों एवं दलितों के लिए 15 लाख रुपये तक के राज्य सरकार के ठेके में आरक्षण के दायरे को बढ़ाकर 10 करोड़ रुपये तक करने की मांग की। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार वंचितों को अधिक ठेके दे और उनके लिए ठेके की आरक्षण सीमा बढ़ाकर 70 फीसद करे। नीतीश अगर आरक्षण के पक्षधर हैं तो लाखों रिक्तियों के बैकलॉग को तुरंत भरें।

तेजस्वी ने लोकसभा के साथ बिहार विधानसभा चुनाव भी कराने की संभावना जताई और अपने समर्थकों को तैयार रहने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत चुनाव का माहौल जानने के लिए बिहार के दौरे पर हैं। उनके दस हजार कार्यकर्ता भी मैदान में उतर चुके हैं।

भाजपा के बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव भी दौरे कर गए हैं। ऐसे में दिसंबर 2018 तक दोनों चुनाव तय है। कार्यक्रम को शिवानंद तिवारी, मंगनीलाल मंडल, मदन शर्मा, उर्मिला ठाकुर, रामबली चंद्रवंशी ने भी संबोधित किया। अध्यक्षता पूर्व मंत्री अशोक कुमार सिंह ने की। मौके पर कर्पूरी ठाकुर के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

loading...

Author: Vatsaly

Share This Post On

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X