गुजरात में जातिवाद और विकासवाद के बीच मुकाबला : अमित शाह

भावनगर: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज भावनगर में कहा कि गुजरात में विकासवाद का मुकाबला जातिवाद और वंशवाद से है| उन्होंने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात को एक पर्यटन स्थल के रूप में सोचा और राज्य की जमीन की वास्तविकताओं के संपर्क में नहीं था। राहुल गांधी को राज्य के तथ्यों के बारे में जानना चाहिए|

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और भावनगर से प्रत्याशी जीतु वाघाणी ने आज अपना नामांकन पत्र दाखिल किया| इस मौके पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह समेत पार्टी के वरिष्ठ नेता मौजूद रहे| बाद में भावनगर के गुलिस्ता मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि 2013 में मनमोहन सिंह सरकार ने गुजरात को सिर्फ 63,000 करोड़ रुपये दिए थे। जबकि भाजपा ने 2014 में उससे कहीं ज्यादा गुजरात को दिया है|

बहू की निजी तस्वीरें दिखाकर उसकी छोटी बहन से करता रहा बलात्कार


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


भाजपा सरकार नर्मदा का पानी ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने के लिए प्रयासरत है| भाजपा शासन में सब्जियों और कपास का उत्पादन बढ़ा है| नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में सत्ता में आने के बाद, बुलेट ट्रेन दी, ‘Ro-Ro’ नौका सेवा दी, सौराष्ट्र के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा दिया|

अमित शाह

अमित शाह ने कहा कि गुजरात के लोगों को फैसला करना है, कि वे कांग्रेस का चयन करेंगे जो 1985 से 1995 के बीच ”खाम” सिद्धांत को लागू करने के लिए या 1995 से 2017 तक भाजपा सरकार द्वारा प्रदान किए गए विकास और स्थिरता के शासन को| क्षत्रिय, हरिजन, आदिवासियों और मुसलमानों के लिए एक संक्षिप्त शब्द अक्सर एक शक्तिशाली वोट गुट के रूप में देखा जाता था। इस बार कांग्रेस ने अपना अभियान आउटसोर्स करने का प्रयास किया है और वह सिर्फ गुजरात चुनाव जीतने के लिए जातिवादी राजनीति में शामिल है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि यह गुजरात के लोगों के लिए समय तय करने का समय है कि क्या वे “जातिवाद, वंशवादी शासन, अल्पसंख्यक तुष्टीकरण या विकासात्मक राजनीति और भाजपा द्वारा की गई स्थिरता” का चयन करेंगे। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार में आतंकियों के हौसले बुलंद थे, जबकि मोदी सरकार ने पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक की| भारतीय सेना ने पीओके में घुसकर आतंकियों को ढेर कर दिया, जिससे पाकिस्तान के हौसले पस्त हो गए|

गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने अपने प्रत्याशियों की चौथी सूची जारी कर दी है| इसके साथ ही पहले चरण में 19 जिलों की 89 सीटों पर होने वाले चुनाव के लिए पार्टी ने अपने प्रत्याशियों के पत्ते खोल दिए हैं| पहले चरण के लिए होने वाले चुनाव के लिए आज नामांकन की अंतिम तारीख है| इस चरण के लिए नौ दिसंबर को मतदान होंगे| इसमें सौराष्ट्र, कच्छ और दक्षिण क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली सीटें शामिल हैं|

गुजरात में पहले चरण के 19 जिलों की 89 सीटों के नामांकन की अंतिम तारीख 21 नवंबर है, जबकि दूसरे चरण के 93 सीटों के नामांकन की अंतिम तारीख 27 नवंबर है| इसके अलावा गुजरात में पहले चरण के लिए नौ दिसंबर और दूसरे चरण के लिए 14 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे| चुनाव के नतीजे 18 दिसंबर को हिमाचल के साथ ही आएंगे|

loading...

Author: Vineet Verma

Share This Post On
X