कोलकाता: भाजपा की बाइक रैली पर टीएमसी का हमला, धरने पर केंद्रीय मंत्री

कोलकाता में बीजेपी मुख्यालय के बाहर और शहर में एक अन्य स्थान पर बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच शुक्रवार सुबह हुई झड़प में कई लोग घायल हुए हैं. बीजेपी मुख्यालय के बाहर हमले के बाद पार्टी की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने आरोप लगाया कि राज्य में कानून व्यवस्था के हालात हाथ से निकल गए हैं. उन्होंने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है.

कोलकाता

तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने सुबह करीब साढ़े दस बजे बीजेपी मुख्यालय पर पथराव किया. जिसके बाद हुई झड़प में कई लोग घायल हो गए. पुलिस के सूत्रों के मुताबिक बड़ी संख्या में पुलिस बल को घटनास्थल पर भेजा गया और फिर हालात को काबू में किया गया.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


घोष ने पूछा, क्या यह है लोकतंत्र? उन्होंने कहा कि कानून-व्यवस्था को हालात पूरी तरह खराब हो चुके हैं. केवल राष्ट्रपति शासन ही राज्य में कानून-व्यवस्था के शासन को कायम कर सकता है.

हालांकि तृणमूल की मंत्री शशि पांजा ने आरोप लगाया कि राज्य में शांति और स्थिरता को बिगाड़ने के लिए बीजेपी हिंसा का सहारा ले रही है. उन्होंने कहा, बीजेपी ने तृणमूल के कार्यकर्ताओं पर हमला किया. हमारी पार्टी बीजेपी जैसी किसी भी सांप्रदायिक ताकत को राज्य की शांति को नुकसान नहीं पहुंचाने देगी.

इसके पहले दोनों दलों के कार्यकर्ताओं के बीच मध्य कोलकाता के जोराबागान इलाके में भी झड़प हुई थी. यह झड़प स्वामी विवेकानंद की जयंती के उपलक्ष्य में बीजेपी की युवा इकाई भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) की मोटरसाइकिल रैली के दौरान हुई थी.

भाजयुमो ने आठ दिन की मोटरबाइक रैली का आयोजन किया, जिसका समापन 18 जनवरी को होगा.बीजेपी नेता एवं पार्षद मीनादेवी पुरोहित ने कहा कि तृणमूल कार्यकर्ताओं ने हमारे कार्यकर्ताओं पर हमला किया और उनके साथ बहुत ही बुरी तरह मारपीट की.

तृणमूल की स्थानीय विधायक स्मिता बक्शी ने आरोपों को नकारते हुए कहा कि हिंसा के पीछे वे लोग हैं, जो बंगाल में कदम जमाने की कोशिश कर रहे हैं.

तृणमूल नेताओं ने आरोप लगाया कि झड़प इसलिए हुई क्योंकि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उनके नेतृत्व के खिलाफ खराब बातें की और स्थानीय महिलाओं से खराब बर्ताव किया.

सुप्रीम कोर्ट विवाद: राहुल के घर पहुंचे चिदंबरम-खुर्शीद-तन्खा, विपक्ष ने उठाये सवाल

बीजेपी के सूत्रों ने पीटीआई भाषा को बताया कि पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल शुक्रवार शाम राज्यपाल केएन त्रिपाठी से मुलाकात करेगा और घटना के बारे में शिकायत करेगा.

loading...

Author: Akash Trivedi

Share This Post On

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X
loading...