कांग्रेस की मांग- जज लोया की मौत की जांच एसआईटी करे, सीबीआई-एनआईए केस से दूर रहें

कांग्रेस ने न्यायाधीश लोया की मौत मामले में एफआईआर दर्ज नहीं होने को लेकर सवाल उठाए हैं. कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने पूछा कि आखिरकार न्यायाधीश लोया की बहन के बयान पर न्यायपालिका ने स्वतः संज्ञान क्यों नहीं लिया? मामले में एफआईआर क्यों नहीं दर्ज की गई? उन्होंने यह भी कहा कि मामले की एसआईटी जांच से सीबीआई और एनआईए दूर रहें.

सीबीआई और एनआईए

कपिल सिब्बल ने कहा कि न्यायाधीश लोया बिना किसी सुरक्षा के नागपुर गए थे. हालांकि वह उस समय सीबीआई जज थे. कांग्रेस नेता ने कहा कि रवि भवन गेस्ट हाउस के रजिस्टर में सिर्फ श्रीकांत कुलकर्णी का नाम था, लेकिन जज बृजमोहन लोया और श्रीराम मधुसूदन मोडक का कोई रिकॉर्ड नहीं पाया गया.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


उन्होंने पूछा कि अगर लोया और मोडक के रवि भवन गेस्ट हाउस में ठहरने का कोई सबूत नहीं है, तो आखिरकार ये कहां रुके थे? यह रवि भवन गेस्ट हाउस नागपुर में स्थित है.

कपिल सिब्बत ने यह भी कहा कि गेस्ट हाउस का यह रजिस्टर साल 2014 का है, लेकिन इसमें एंट्री साल 2017 में की गई. उन्होंने दावा कि उनके पास इस तरह का रिकॉर्ड भी है. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर न्यायाधीश लोया मामले पर सवाल उठाए थे.

शोपियां फायरिंग: सेना ने पत्थरबाजों के खिलाफ दर्ज कराई काउंटर एफआईआर

केंद्र की मोदी सरकार अपने इस कार्यकाल का आखिरी बजट पेश करेगी. बजट से पहले कांग्रेस पार्टी प्रेस ब्रीफिंग कर रही है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल, सलमान खुर्शीद, सांसद विवेक तन्खा और पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला इस प्रेस ब्रीफिंग में शामिल हैं.

loading...

Author: Akash Trivedi

Share This Post On
X