कबड्डी प्रतियोगिता: लखनऊ के बीकेटी में हुआ ‘हमसे न लो पंगा’ का आगाज

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में डब्ल्यूकेएल यानी महिला कबड्डी लीग का आगाज हुआ है. स्वयंसेवी संस्था ‘अंश वेलफेयर फाउंडेशन’ ने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर यह अनोखी कबड्डी प्रतियोगिता ‘हमसे न लो पंगा ‘शुरू की है. गणतंत्र दिवस के मौके पर लखनऊ क्व बीकेटी ब्लाक से इस लीग की विधिवत शुरुआत हो गई. इस अनोखी महिला कबड्डी प्रतियोगिता के माध्यम से नारी सशक्तिकरण की नई इबारत लिखने की कोशिश की जा रही है.

प्रदेश स्तरीय कबड्डी प्रतियोगिता में बालिकाएं कहेंगी – अब ले पंगा

अनोखी कबड्डी प्रतियोगिता


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


अंश वेलफेयर फाउंडेशन की संस्थापक अध्यक्ष श्रद्धा सक्सेना एवं कबड्डी लीग के संयोजक नागेन्द्र बहादुर सिंह चौहान ने बताया कि जनवरी के अंतिम सप्ताह से यूपी के विभिन्न जिलों में बालिकाओं की कबड्डी प्रतियोगिता शुरू हो रही है. जिलों से क्वार्टर फाइनल जीतने वाली कबड्डी टीमें लखनऊ में सेमी फाइनल और फाइनल मैच खेलेंगी. फाइनल मैच अप्रैल माह में खेला जाएगा. इस प्रतियोगिता में हमारी कोशिश है कि ग्रामीण इलाके की बालिकाएं इसमें बढ़ चढ़कर हिस्सा लें. इसमें पहले यूपी के विभिन्न जिलों में क्वार्टर फाइनल मैच होंगे. फिर लखनऊ में फाइनल मैच खेला जाएगा.

अनोखी कबड्डी प्रतियोगिता

प्रतियोगिता का टाइटल हमसे न लो पंगा है. प्रतियोगिता की शुरुआत बीकेटी ब्लाक के रामा कान्वेंट इंटर कॉलेज, हनुमन्तपुर से हुई. यहां 26 जनवरी को रामा कान्वेंट स्कूल, पूर्व माध्यमिक विद्यालय शाहपुर व पूर्व माध्यमिक विद्यालय अटेसुआ की कुल 8 टीमें आपस में भिड़ीं. सीनियर वर्ग में पूर्व माध्यमिक विद्यालय अटेसुवा की टीम प्रतियोगिता जीती. वहीं, जूनियर वर्ग में रामा कान्वेंट स्कूल की बच्चियों ने बाजी मारी.

अनोखी कबड्डी प्रतियोगिता

महिला कबड्डी लीग के लिए रामा कान्वेंट में पहली भिड़ंत हुई. इसमें इटौंजा इलाके के एक निजी और दो सरकारी स्कूलों की आठ टीमों ने हिस्सा लिया.

अनोखी कबड्डी प्रतियोगिता

यूपी के लखनऊ, सीतापुर, बाराबंकी, उन्नाव, हरदोई, कानपुर, लखीमपुर, रायबरेली, इलाहाबाद, बनारस, सोनभद्र, अम्बेडकरनगर, सुल्तानपुर, रामपुर, फैजाबाद, मैनपुरी, शाहजहांपुर व इटावा सहित अन्य जिलों में संस्था के लोग पहुंच चुके हैं. इन जिलों में प्रतियोगिता की तैयारी चल रही है.

अनोखी कबड्डी प्रतियोगिता

इस प्रदेश स्तरीय प्रतियोगिता में कोई भी स्कूल हिस्सा ले सकता है. इसमें आयु वर्ग 10 से 14 वर्ष (जूनियर) और 15 से 18 वर्ष (सीनियर) टीमें होंगी.

अनोखी कबड्डी प्रतियोगिता

प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए स्कूल या फिर लड़कियों को किसी प्रकार का शुल्क नहीं देना है. इतना ही नहीं अप्रैल, 2018 में सेमी फाइनल और फाइनल के लिए जो टीमें लखनऊ में आएंगी, आयोजक मंडल इनके खिलाड़ियों के रहने, खाने का भी सारा इंतज़ाम करेगा.

अनोखी कबड्डी प्रतियोगिता

ये भी देखें:

loading...

Author: Ashutosh Mishra

Share This Post On
X