एसबीआई ने 20 हजार करोड़ का फंसा कर्ज बट्टे खाते में डाला

नई दिल्ली : यह बड़ी हैरानी की बात है कि देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने 2016-17 में 20,339 करोड़ रुपये के फंसे कर्ज को बट्टे खाते में डाल दिया है.यह सार्वजनिक बैंकों द्वारा बट्टे खाते में डाली गई सर्वाधिक राशि है .खास बात यह है कि यह आंकड़े तब के हैं जब भारतीय स्टेट बैंक में उसके सहयोगी बैंकों का विलय नहीं हुआ था. एसबीआई द्वारा कर्ज वसूली न कर पाने से जनता के रुपयों की बर्बादी का यह मामला चिंताजनक है .

आपको बता दें कि वित्त वर्ष 2012-13 में सरकारी बैंकों का कुल बट्टा खाता 27,231 करोड़ रुपये था.जो वित्त वर्ष 2013-14 में बढ़कर 34,409 करोड़ रुपये हो गया.वित्त वर्ष 2014-15 में यह राशि 49,018 करोड़ रुपये, 2015-16 में 57,585 करोड़ रुपये और मार्च 2017 में समाप्त हुए वित्त वर्ष में 81,683 करोड़ रुपये तक पहुंच गई. जो बैंकों के कुप्रबंधन को इंगित करता है .

जहां तक अन्य बैंको द्वारा बट्टे खाते में राशि डालने का सवाल है तो बैंक ऑफ इंडिया ने 7,346 करोड़ रुपये, केनरा बैंक ने 5,545 करोड़ रुपये और बैंक ऑफ बड़ौदा ने 4,348 करोड़ रुपये बट्टे खाते डाले हैं. चालू वित्त वर्ष में सितंबर छमाही तक सरकारी बैंकों ने 53,625 करोड़ रुपये के कर्ज को बट्टे खाते डाला जा चुका है.जो चिंताजनक है .


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


loading...

Author: Web_Wing

Share This Post On

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X