आगरा जल निगम के जीएम को नमामि गंगे में लापरवाही पड़ी भारी, निलंबित

महत्वाकांक्षी योजनाओं में शामिल नमामि गंगे परियोजना में लापरवाही पर सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए जल निगम के तीन अभियंताओं को निलंबित कर दिया है। इनमें आगरा जल निगम के जीएम कृष्ण गोपाल सिंह भी शामिल हैं। 

इनके साथ मुरादाबाद के मुख्य अभियंता राजीव शर्मा और वाराणसी के ट्रांस वरुणा प्रोजेक्ट से जुड़े अधिशासी अभियंता ज्ञानेन्द्र कुमार चौधरी पर भी निलंबन की गाज गिरी है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर शासन ने तीनों अभियंताओं को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने का आदेश जारी कर दिया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नमामि गंगे परियोजनाओं के प्रगति की समीक्षा की थी, जिसमें पाया गया कि आगरा में एसटीपी लगाने के लिए धन मंजूर किया गया था, लेकिन इस दिशा में अब तक काम नहीं किया गया। इसके लिए जिम्मेदार मानते हुए आगरा के जीएम को निलंबित किया गया है। 


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


आगरा में कागजों में छह एसटीपी चल रहे हैं, लेकिन हकीकत में नाले सीधे यमुना में गिर रहे हैं। इससे एनजीटी भी खफा है। डूब क्षेत्र का मामला एनजीटी में चल रहा है। जल निगम की ओर से इस पर कभी गंभीरता से काम किया ही नहीं गया।

आगरा में गंगाजल लाने का काम भी बहुत धीमी गति से चल रहा है। इसमें जल निगम ने बेहद फूहड़ ढंग से काम किया है। इससे किरकिरी भी हुई है।

loading...

Author: Web_Wing

Share This Post On
X