आईआईटी कानपुर में बोले सीएम योगी, 60 हजार गांवों में शुरू करेंगे स्टार्टअप योजना

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार जल्द ही प्रदेश के 60 हजार गांवों को स्टार्टअप योजना से जोड़ेगी। बोले, हर गांव में कुछ न कुछ खूबी है जो उसे दूसरों से अलग बनाती है। उन गांवों के युवाओं को उसी खूबी के बारे में समझाना है ताकि वह उसका प्रयोग करके अपने गांव में उद्यमिता की शुरूआत कर सकें।
स्टार्टअप योजना
योगी आदित्यनाथ शनिवार को आईआईटी कानपुर के एल्युमनाई एसोसिएशन, एंटरप्रिन्योरशिप सेल और टाई यूपी की ओर से आयोजित ‘स्टार्टअप मास्टर क्लास’ के शुभारंभ समारोह को संबोधित कर रहे थे।

अपने संबोधन में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज का युवा कार्य करना चाहता है। उसके पास आइडिया और इनोवेशन की क्षमता है। वह उद्यम को आगे ले जा सकता है। आगे बताया कि अगले छह माह के अंदर प्रदेश के 60 हजार गांव ऑप्टीकल फाइबल से जुड़ जाएंगे।

इससे उन्हें इंटरनेट व अन्य कनेक्टिविटी की सुविधा भी मिल जाएगी। बोले, यह एक अच्छा माध्यम होगा जिससे कि प्रदेश के हर गांव में स्टार्टअप योजना को प्रमोट किया जा सके। इसकी शुरुआत ‘वन डिस्ट्रिक वन प्रोडक्ट’ योजना के जरिए की है।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


इस योजना के तहत प्रदेश के सभी 75 जिलों से एक-एक युवा को स्टार्टअप प्रमोशन के लिए नियुक्त किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने यूपी से युवाओं के पलायन पर भी चिंता जाहिर की। कहा कि उत्तर प्रदेश आबादी के लिहाज से देश का सबसे बड़ा प्रदेश है लेकिन यहीं के युवा सबसे ज्यादा पलायन करते हैं। इसका मुख्य कारण बेरोजगारी है।

योगी राज में कानून व्यवस्था पर उठे सवाल, विरोध में सपा कार्यकर्ताओं का हल्ला बोल

इसे रोकने के लिए युवाओं को स्टार्टअप से जोड़ना जरूरी है। इस दौरान प्रदेश के तकनीकी शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन, आईआईटी कानपुर के निदेशक प्रो. मणिंद्र अग्रवाल, डीन एल्मुनाई एंड रिसर्च प्रो. बीवी फड़ी, इंडियन-अमेरिकन फोरम के नेशनल प्रेसिडेंट रवि सखूजा, प्रदीप भार्गव, टाई यूपी के प्रेसिडेंट अमित तिवारी आदि मौजूद रहे।

loading...

Author: Akash Trivedi

Share This Post On

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X